There was an error in this gadget

Friday, December 19, 2008

आइना है पवन में..

कमल खिले आगन में,
रत्न मिले क्षण-क्षण में,
पाकिजा व्यक्तित्व का
एक आइना है पवन में।


.....ankur

No comments: